जिओलाइट क्या होता है | सूत्र | उपयोग | आकार वर्णात्मकता

जिओलाइट क्या होता है:

धातुओं के एल्युमिनों सिलिकेट को ही जिओलाइट कहा जाता है |

जिओलाइट का सूत्र:

जिओलाइट का सामान्य सूत्र MX/n[(AlO2)x(SiO2)y]zH2O होता है , यहाँ ध्यान दे कि n धातु आयन पर उपस्थित आवेश को प्रदर्शित करता है।
अधिकतर यह देखा गया है कि जिओलाइट में धनायन मुख्यतः Na+
, Ca2+ , K+ आदि होते है।
 

जिओलाइट में आकार वर्णात्मकता :

 
  1. वे उत्क्रमणीय अभिक्रियाएँ जो उत्प्रेरक (Catalyst) के रंध्र , क्रियाकारक व क्रियाफल के अणु के आकार पर निर्भर करती हैं उन्हें आकार वर्णात्मक उत्प्रेरक कहते है।
  2. जिओलाइट(zeolite) आकार वर्णात्मक उत्प्रेरक है।
  3. जिओलाइट की संरचना मधुमक्खी के छत्ते के समान होती है जिसमे असंख्य छिद्र होते है।
  4. जिओलाइट को आकार वर्णात्मक उत्प्रेरक कहते है क्योंकि इसके छिद्रो में क्रियाकारक के वे अणु ही प्रवेश कर सकते है जिनका आकार इन छिद्रों के अनुरूप होता है।
  5. जिओलाइट(zeolite) ल्यूमिनु सिलिकेट है। जिसमे Si-O-Al लिंकेज  होती है।

जिओलाइट के उपयोग :

 
  1. पेट्रो रसायन उद्योग में जिओलाइट हाइड्रोकार्बन का भंजन तथा समावयवी करण करते है।
  2. ZSM-5 नामक जिओलाइट एथिल एल्कोहल का निर्जलीकरण कर उसे पेट्रोल (गैसोलीन) में बदलता है।
  3. जिओलाइट कठोर जल को मृदु जल में बदलता है।
credit:Kmd Saharanpur

Leave a Comment

Your email address will not be published.