भोजन में रसायन | कृत्रिम मधुरक | खाद्य परीक्षक

भोजन में रसायन :भोजन में रसायन | कृत्रिम मधुरक | खाद्य परीक्षक परीक्षा के दृष्टिकोण से एक महत्वपूर्ण टॉपिक है. अक्सर भोजन में रसायन | कृत्रिम मधुरक | खाद्य परीक्षक से सम्बंधित प्रश्न जैसे कि भोजन में रसायन | कृत्रिम मधुरक | खाद्य परीक्षक आदि  प्रैक्टिकल परीक्षा के दौरान प्रश्न पूछे जाते है. अतः परीक्षार्थियों को भोजन में रसायन | कृत्रिम मधुरक | खाद्य परीक्षक से जुड़े सभी सम्बंधित प्रश्नों का भलीभांति तैयार कर लेना चाहिए

भोजन में रसायन (chemicals in food) :

वे रसायन जो भोजन को सुरक्षित , आकर्षक व कृत्रिम मिठास को बढ़ाते है उन्हें निम्न प्रकार से वर्गीकृत करते है |

A . कृत्रिम मधुरक (artificial sweeteners) –

वे रसायन जो शर्करा तो नहीं होते परन्तु भोजन की कृत्रिम मिठास को बढ़ा देते है , उन्हें कृत्रिम मधुरक कहते है ये निम्न है |

  1. सैकरीन (Saccharine) : इनका रासायनिक नाम O-सेल्फोबेंजीमाइड है।
    यह चीनी से 550 गुना अधिक मीठा होता है , इसका कैलोरी मान शून्य होता है , मधुमेह रोगी तथा नियंत्रित कैलोरी लेने वाले मनुष्यों के लिए यह लाभदायक है।
  2. एस्पार्टेम (Aspartame) – यह शीतल पेय पदार्थ की मिठास को बढ़ाता है , यह कम ताप पर स्थायी परन्तु खाना पकाने के ताप पर अस्थायी होता है।
  3. ऐलिटेम (Allitem): यह अधिक पर तो स्थायी परन्तु इसके द्वारा मिठास को नियंत्रित नहीं किया जा सकता है।
  4. सुक्रोलोस (sucralose)- वर्तमान में इसका उपयोग अधिक किया जाता है।

    B . खाद्य परीक्षक (food preservatives) : वे रसायन जो भोजन को सड़ने गलने अर्थात सूक्ष्म जीवों से रक्षा करते है उन्हें खाद्य परीक्षक कहते है।
    उदाहरण – वनस्पति तेल , नमक , चीनी आदि।
credit:Kmd Saharanpur

Remark:

दोस्तों अगर आपको इस Topic के समझने में कही भी कोई परेशांनी हो रही हो तो आप Comment करके हमे बता सकते है | इस टॉपिक के expert हमारे टीम मेंबर आपको जरूर solution प्रदान करेंगे|


यदि आपको https://hindilearning.in वेबसाइट में दी गयी जानकारी से लाभ मिला हो तो आप अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कर सकते है |

Leave a Comment

Your email address will not be published.