Dravyaman Ka Matrak (1)

द्रव्यमान का मात्रक क्या है? – Dravyaman Ka Matrak

Dravyaman Ka Matrak:द्रव्यमान का मात्रक बताईये। परीक्षा के दृष्टिकोण से एक महत्वपूर्ण टॉपिक है. अक्सर इस विषय से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है. अतः परीक्षार्थियों को द्रव्यमान कि परिभाषा, मात्रक, व सूत्र से जुड़े सभी सम्बंधित प्रश्नों का भलीभांति तैयार कर लेना चाहिए

Dravyaman Ka Matrak

द्रव्यमान किसी वस्तु का मूल गुण होता हैं. यह उस पदार्थ के त्वरण का विरोध करता हैं. किसी भी वस्तु का द्रव्यमान उसके वजन और भार से पता चलता हैं. अगर कोई वस्तु भारी हैं तो उसका द्रव्यमान भी ज्यादा होना स्वाभाविक हैं. अंत द्रव्यमान से हमे पदार्थ का वजन और गुरुत्वाकर्षण के प्रति शक्ति का पता लगता हैं.

द्रव्यमान पूर्णरूप से पदार्थ के मात्रा पर निर्भर करता हैं. किसी भी वस्तु का द्रव्यमान हमेशा समान ही रहता हैं. द्रव्यमान परिस्थिति के अनुसार नहीं बदलता हैं. द्रव्यमान का SI इकाई किलोग्राम हैं.

द्रव्यमान वस्तु का आंतरिक गुण होता हैं. तथा किसी वस्तु का द्रव्यमान एक अदिश राशि होती हैं।

द्रव्यमान का मात्रक किलोग्राम (kg) है।अन्य मात्रक ग्राम (g) और मिलीग्राम (mg) हैं।

credit:Smart Study Classes

आर्टिकल में आपने द्रव्यमान के मात्रक को पढ़ा। हमे उम्मीद है कि ऊपर दी गयी जानकारी आपको आवश्य पसंद आई होगी। इसी तरह की जानकारी अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करे ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.