Rasayanik Abhikriya Kise Kahate Hain

रासायनिक अभिक्रिया के प्रकार – Rasayanik Abhikriya Kise Kahate Hain

Rasayanik Abhikriya Kise Kahate Hain:रासायनिक अभिक्रिया के प्रकार बताईये।?  परीक्षा के दृष्टिकोण से एक महत्वपूर्ण टॉपिक है. अक्सर इस विषय से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है. अतः परीक्षार्थियों को रासायनिक अभिक्रिया के प्रकार से जुड़े सभी सम्बंधित प्रश्नों का भलीभांति तैयार कर लेना चाहिए.

Rasayanik Abhikriya Kise Kahate Hain

जब दो या दो से अधिक परमाणुओ को एक निश्चित अनुपात में मिलाने पर जो अभिक्रिया होती है उसे रासायनिक  अभिक्रिया कहते है।

रसायनिक अभिक्रियाओं के प्रकार

1. संयोजन अभिक्रिया (Combination Reaction)

जिस अभिक्रिया में दो या दो से अधिक अभिकार्कों से एक एकल उत्पाद का निर्माण होता है उसे संयोजन अभिक्रिया कहते है.

A+B → AB

उदाहरण: दीवारों पर चूने से सफेदी करना. चूने को जब पानी में डाला जाता है, तो बुझा हुआ चूना बनता है यानी कैल्शियम हाइड्रॉक्साइड (calcium hydroxide) और कैल्शियम हाइड्रॉक्साइड वायु में उपस्थित कार्बन डाइऑक्साइड (carbon dioxide) के साथ धीरे-धीरे अभिक्रिया करके दीवारों पर कैल्शियम कार्बोनेट (calcium carbonate) की पतली परत बना देता है.

2. वियोजन या अपघटन अभिक्रिया (Decomposition Reaction)

वियोजन अभिक्रिया, संयोजन अभिक्रिया के विपरीत होती है. इस अभिक्रिया में एकल अभिकारक वियोजित या विघटित होकर दो या अधिक उत्पादों का निर्माण करता है. यह तीन प्रकार की होती है: उष्मीय वियोजन जो ऊष्मा के द्वारा होती है, विद्युत वियोजन जिसमें ऊष्मा विद्युत के रूप में प्रदान की जाती है, प्रकाशीय वियोजन जिसमें ऊष्मा प्रकाश के द्वारा प्रदान की जाती हैं.

3. विस्थापन अभिक्रिया (Displacement Reaction)

इस अभिक्रिया में अधिक अभिक्रियाशील पदार्थ कम अभिक्रियाशील पदार्थ को उसके यौगिक से अलग कर देता है.

Fe(s) + CuSO4 (aq) → FeSO4 (aq) + Cu(s)

इस अभिक्रिया में लोहा कॉपर से अधिक अभिक्रियाशील पदार्थ है जिससे यह कॉपर को उसके यौगिक कॉपर सल्फेट से अलग कर देता है. 

4. द्वी-विस्थापन अभिक्रिया (Double Displacement Reaction)

इस अभिक्रिया में अभिकर्कों के बीच आयनों का आदान-प्रदान होता है.

Ab + Cd → Ad + Cb

Na2SO4 + BaCl2 → BaSO4 + 2NaCl

NaOH + H2SO4 → Na2so4 + H2O

5. उपचयन एवं अपचयन अभिक्रिया (Oxidation and Reduction Reaction)

उपचयन अभिक्रिया (Oxidation Reaction)

इसमें किसी पदार्थ में ऑक्सीजन की वृद्धि और हाइड्रोजन की कमी हो जाती है.

उदाहरण: जब कार्बन में ऑक्सीजन की वर्धि होती है तो कार्बन डाइऑक्साइड बनता है यानी यह कार्बन डाइऑक्साइड उपचयित (oxidised) हो जाता है.

C + O2 → CO2

2Cu + O2 → 2CuO

जब हाइड्रोजन का ह्रास होता है तब:

सल्फर हाइड्राइड से हाइड्रोजन का ह्रास होता है और उपचयित (oxidised) होता है.

H2S + Br2 → 2HBr + S

H2S + I2 → 2HI + S

6.अपचयन अभिक्रिया (Reduction Reaction)

इस अभिक्रिया में ऑक्सीजन का ह्रास और हाइड्रोजन में वृद्धि होती है. जैसे

CuO + H2 → Cu + H2O

H2S + Cl2 → 2HCl +S

credit:Kshamta Tv – Milind Mishra

आर्टिकल में आपने रासायनिक अभिक्रिया के प्रकार को पढ़ा। हमे उम्मीद है कि ऊपर दी गयी जानकारी आपको आवश्य पसंद आई होगी। इसी तरह की जानकारी अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करे ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.