redox abhikriya ka udaharan

रेडोक्स अभिक्रिया के उदाहरण – Redox Abhikriya Ka Udaharan

Redox Abhikriya Ka Udaharan:रेडोक्स अभिक्रिया के उदाहरण बताओ।  परीक्षा के दृष्टिकोण से एक महत्वपूर्ण टॉपिक है. अक्सर इस विषय से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है. अतः परीक्षार्थियों को रेडोक्स अभिक्रिया से जुड़े सभी सम्बंधित प्रश्नों का भलीभांति तैयार कर लेना चाहिए

Redox Abhikriya Ka Udaharan

प्रत्येक रेडॉक्स अभिक्रिया में दो अर्ध अभिक्रियाएं होती हैं जिनमें एक ऑक्सीकरण जबकि दूसरी अपचयन होती है क्योंकि ऑक्सीकरण अभिक्रिया में इलेक्ट्रॉन निष्कासित होते हैं तथा अपचयन अभिक्रिया में इलेक्ट्रॉन ग्रहण किए जाते हैं अतः हम कह सकते हैं कि रेडॉक्स अभिक्रिया एक इलेक्ट्रॉन स्थानांतरण प्रक्रिया है।

वह पदार्थ जिसका ऑक्सीकरण होता है वह दूसरे पदार्थ को अपचयित कर देता है अतः अपचायक (Reductant) कहलाता है इस प्रकार अपचयित होने वाला पदार्थ ऑक्सीकारक (oxidant) कहलाता है।

उदाहरण – Zn+CuSO4 → ZnSO4 + Cu

इस अभिक्रिया मे Zn, 2 इलेक्ट्रॉन का त्याग करके Zn2+ तथा Cu2+ 2 इलेक्ट्रॉन ग्रहण करके Cu बना रहा है जोकि क्रमशः ऑक्सीकरण तथा अपचयन अभिक्रियाएं हैं। अतः यह एक रेडॉक्स अभिक्रिया है।

रेडोक्स अभिक्रिया के उदाहरण

  • Cu2+ (aq) + Zn (s) ⟶ Cu (s) + Zn2+ (aq) इस अभिक्रिया में Cu2+ का Cu में अपचयन हो रहा है तथा Zn का में Zn2+ ऑक्सीकरण हो रहा है। …
  • 2HgCl2 (aq) + SnCl2 (s) ⟶ Hg2Cl2 (s) + SnCl4 (aq)
  • Zn (s) + 2HCl (aq) ⟶ ZnCl2 (aq) + H2 (g)
credit:Mobile Par School

आर्टिकल में आपने रेडोक्स अभिक्रिया  को पढ़ा। हमे उम्मीद है कि ऊपर दी गयी जानकारी आपको आवश्य पसंद आई होगी। इसी तरह की जानकारी अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करे ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.