संगमरमर का रासायनिक सूत्र

Sangmarmar Ka Rasayanik Sutra, Naam, उपयोग

Sangmarmar Ka Rasayanik Sutra: संगमरमर एक कायांतरित चट्टान है जिसका निर्माण अवसादी कार्बोनेट चट्टानों के क्षेत्रीय और कभी कभी संपर्क कायांतरण के फलस्वरूप होता है। यह अवसादी कार्बोनेट चट्टानें चूना पत्थर या डोलोस्टोन, या फिर पुराना संगमरमर हो सकती है। कायांतरण की इस प्रक्रिया के दौरान मूल चट्टान का पुनर्क्रिस्टलीकरण होता है।

अवसादी निक्षेपों से संगमरमर बनने की इस प्रक्रिया में उच्च तापमान और दबाव के चलते मूल चट्टान मे उपस्थित किसी भी प्रकार के जीवाश्मिक अवशेष और चट्टान की मूल बनावट नष्ट हो जाती है।

इसके बनने की अभिक्रिया-

Ca(OH)2 (aq) + CO2  →  CaCO3 (s) + H2O

संगमरमर का रासायनिक सूत्र

Ca CO3

संगमरमर का रासायनिक नाम

कैल्शियम कार्बोनेट – Calcium Carbonate

संगमरमर के उपयोग

अधिकांश संगमरमर का उपयोग निर्माण उद्योग में किया जाता है। कुचल संगमरमर का उपयोग सड़कों, इमारतों की नींव, और रेल के बिस्तरों के निर्माण के लिए किया जाता है। डायमेंशन स्टोन को ब्लॉक या शीट में संगमरमर को काटकर बनाया जाता है।

FAQs

  • संगमरमर का दूसरा नाम क्या है?

    इसका नाम फारसी से निकला है, जिसका अर्थ है मुलायम पत्थर।

  • संगमरमर कौन सा शैल है?

    संगमरमर एक कायांतरित शैल है, जो कि चूना पत्थर के कायांतरण का परिणाम है। यह अधिकतर कैलसाइट का बना होता है, जो कि कैल्शियम कार्बोनेट (CaCO3) का स्फटिकीय रूप है। यह शिल्पकला के लिये निर्माण अवयव हेतु प्रयुक्त होता है। इसका नाम फारसी से निकला है, जिसका अर्थ है मुलायम पत्थर।

  • संगमरमर और मार्बल में क्या अंतर है?

    संगमरमर में पारदर्शिता होती है जिसके कारण इसमें चमक रहती है। इसे जिस भी कमरे में लगाया जाए, वहां चमक दिखाई देगी। शिल्‍प कला में विशेष उपयोग के कारण, संगमरमर काफी लोकप्रिय है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.