Sankalan Abhikriya

संकलन अभिक्रिया किसे कहते हैं? – Sankalan Abhikriya

Sankalan Abhikriya:संकलन अभिक्रिया किसे कहते हैं?  परीक्षा के दृष्टिकोण से एक महत्वपूर्ण टॉपिक है. अक्सर इस विषय से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है. अतः परीक्षार्थियों को संकलन अभिक्रिया से जुड़े सभी सम्बंधित प्रश्नों का भलीभांति तैयार कर लेना चाहिए

Sankalan Abhikriya

हाईड्रोजन, क्लोरीन, ब्रोमीन आदि का असंतृप्त हाईड्रोकार्बन में हाईड्रोजन को अभिक्रिया के क्रम में हटाकर जुड़ना संकलन अभिक्रिया (Addition Reaction) कहलाता है। संकलन अभिक्रिया (Addition Reaction) असंतृप्त (Unsaturated) हाइड्रोकार्बन (Hydrocarbon) का एक वैशिष्टय गुण (Characteristic property) है।

कार्बनिक रसायन मे संकलन अभिक्रिया (addition reaction) वह कार्बनिक अभिक्रिया है जिसमें दो या दो से अधिक अणु मिलकर एक बड़ा अणु बनाते है।

संकलन अभिक्रियाएँ उन्हीं रासायनिक यौगिकों तक सीमित होती हैं जिनमें एकल आबन्ध के बजाय बहुबन्ध हों , जैसे कि कार्बन-कार्बन द्वि-आबन्ध ( ऐल्कीन ) वाले अणु ya त्रि-आबन्ध वाले अणु ( एल्काइन ) । या फिर वे यौगिक जिनमें वलय (रिंग) होते हैं, क्योंकि इन्हें भी ‘असंतृप्ति के बिन्दु’ जैसा ही माना जाता है।

संकलन अभिक्रिया, विलोपन अभिक्रिया के विपरीत अभिक्रिय है।

ध्रुवीय संकलन अभिक्रियाएँ दो प्रकार की होतीं हैं- इलेक्ट्रॉनरागी संकलन (electrophilic addition) तथा नाभिकरागी संकलन (nucleophilic addition)। अध्रुवीय संकलन अभिक्रियाएँ भी होतीं हैं जिनके दो प्रकाए हैं- मुक्त-मूलक संकलन (free-radical addition) तथा चक्रीय संकलन(cycloaddition)। बहुलकीकरण में भी संकलन अभिक्रिया देखने को मिलती हैं। जिन्हें संकलन बहुलकीकरण कहते हैं।

हाईड्रोजन, क्लोरीन, ब्रोमीन आदि का असंतृप्त हाईड्रोकार्बन में हाईड्रोजन को अभिक्रिया के क्रम मे हटाकर जुड़ना संकलन अभिक्रिया (Addition Reaction) कहलाता है। संकलन अभिक्रिया (Addition Reaction) असंतृप्त (Unsaturated) हाइड्रोकार्बन (Hydrocarbon) का एक वैशिष्टय गुण (Characteristic property) है।

credit:PCM subject learning

आर्टिकल में आपने संकलन अभिक्रिया  को पढ़ा। हमे उम्मीद है कि ऊपर दी गयी जानकारी आपको आवश्य पसंद आई होगी। इसी तरह की जानकारी अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करे ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.