Vidyut Aavesh Ka SI Matrak Kya Hota Hai

विद्युत आवेश का SI मात्रक – Vidyut Aavesh Ka SI Matrak Kya Hota Hai

Vidyut Aavesh Ka SI Matrak Kya Hota Hai:विद्युत आवेश का मात्रक बताईये। परीक्षा के दृष्टिकोण से एक महत्वपूर्ण टॉपिक है. अक्सर इस विषय से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है. अतः परीक्षार्थियों को विद्युत आवेश कि परिभाषा, मात्रक, व सूत्र से जुड़े सभी सम्बंधित प्रश्नों का भलीभांति तैयार कर लेना चाहिए

Vidyut Aavesh Ka SI Matrak Kya Hota Hai

हमारा यह सामान्य अनुभव है कि जब किसी शुष्क दिन एक प्लास्टिक के स्केल या कंधे को सूखे बालो से रगड़कर मेज पर पड़े छोटे-छोटे कागज के टुकड़ों के पास लाते है तब कागज के टुकड़े स्केल अथवा कंघे की और आकर्षित होते हैं। इस प्रकार दो वस्तुओं को परस्पर रगड़ने पर उनमें कभी-कभी ऐसा गुण आ जाता है जिससे वे अपने समीप स्थित हल्की वस्तुओं को आकर्षित करने लगती है। यह विद्युत आवेश के उत्पन्न होने के कारण होता है।

विद्युत आवेश का एस आई (SI) मात्रक :-

एम्पियर × सेकंड अर्थात कूलाम है।

credit:Treasure of Questions

आर्टिकल में आपने Vidyut Aavesh Ka SI Matrak Kya Hota Hai पढ़ा। हमे उम्मीद है कि ऊपर दी गयी जानकारी आपको आवश्य पसंद आई होगी। इसी तरह की जानकारी अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करे ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.